सरकार ने NEET और JEE की तैयारी करने वाले स्टूडेंट के लिए शुरू की ‘फ्री-कोचिंग

छत्तीसगढ़ सरकार ने छात्रों की मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी में मदद करने के लिए ‘स्वामी आत्मानंद योजना’ की शुरुआत की है। इस योजना के तहत, मुफ्त कोचिंग के अवसर स्वामी आत्मानंद योजना के अंतर्गत प्रदान किए जाएंगे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस योजना की घोषणा की है, जिसका उद्देश्य गरीब और मेधावी छात्रों को उच्च शिक्षा के क्षेत्र में मदद करना है।

फ्री कोचिंग के लिए आवश्यकताएँ

सरकारी स्कूल के कक्षा 12वीं के रेगुलर छात्र इस मुफ्त कोचिंग कार्यक्रम में भाग ले सकते हैं। इसके लिए, छात्र को कक्षा 10वीं में कम से कम 60 प्रतिशत अंकों के साथ पास होना चाहिए। छात्रों को संबंधित विकासखंड, शहर के शासकीय स्कूलों में कक्षा 12वीं का नियमित छात्र होना चाहिए। इस कोचिंग कार्यक्रम का लाभ उन छात्रों को मिलेगा जो कक्षा 12वीं में जीव विज्ञान और गणित संकाय के हैं। यदि आवेदनों की संख्या अधिक होती है तो कक्षा 10वीं के परिणामों के आधार पर छात्रों को चयनित किया जाएगा।

कोचिंग की विशेषताएँ

जेईई और नीट की इस कोचिंग के हर क्लास में कुल 100 सीटें होंगी, जिसमें से 50 सीटें मेडिकल के छात्रों के लिए और 50 सीटें इंजीनियरिंग के छात्रों के लिए होंगी। कोचिंग क्लासेस शाम 4.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक चलेंगी, जिससे छात्र अपनी स्कूली पढ़ाई के साथ इन प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर सकेंगे।

छात्रों को मिलेगा फायदा

इस मुफ्त कोचिंग कार्यक्रम के माध्यम से, गरीब और मेधावी छात्रों को समर्थन प्राप्त होगा, और वे अपने सपनों की ओर बढ़ सकेंगे। नीट और जेईई जैसी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारी में मुफ्त कोचिंग की उपलब्धता से यह छात्रों के लिए एक बड़ा मौका है।

Also Read  Complete Guide to Hair Transplants

सरकारी योजना की महत्वपूर्ण बातें

1. मुफ्त शिक्षा का संदेश: छत्तीसगढ़ सरकार की ‘स्वामी आत्मानंद योजना’ गरीब छात्रों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने का मौका देने का संदेश देती है। इसके माध्यम से, सरकार शिक्षा के महत्व को प्रमोट कर रही है।

2. सामाजिक समानता का साधना: इस योजना के माध्यम से, सरकार सामाजिक समानता को बढ़ावा देने का काम कर रही है, क्योंकि गरीब और अधिकारी छात्रों को एक समान मौका मिल रहा है।

3. उच्च शिक्षा की प्रोत्साहना: नीट और जेईई के प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी में मुफ्त कोचिंग की उपलब्धता से उच्च शिक्षा के क्षेत्र में छात्रों की प्रोत्साहित होगी, जो उनके भविष्य को स्थायी रूप से सुनहरा बना सकती है।

समापन शब्द

छत्तीसगढ़ सरकार की ‘स्वामी आत्मानंद योजना’ नीट और JEE की तैयारी करने वाले गरीब छात्रों के लिए एक बड़ा सौभाग्य है। इसके माध्यम से, वे अपने सपनों को पूरा करने का मौका पा रहे हैं और उच्च शिक्षा के क्षेत्र में अपनी जगह बना रहे हैं। छत्तीसगढ़ सरकार की इस पहल का स्वागत है, और हम उन छात्रों को बधाई देते हैं जिन्होंने इस अद्भुत अवसर का उपयोग किया है। आखिरकार, शिक्षा ही हमारे समाज के विकास की कुंजी है, और इसका सही दिशा में प्रयोग करने के लिए सरकार की इस पहल का समर्थन होना चाहिए।

Hello I am Sam

Leave a Comment